गांव के प्रथम नागरिक कहे जाने वाले ग्राम प्रधान के पास ही शौचालय नहीं ।

OneIndia_HindiPublished: August 4, 2018
Published: August 4, 2018

amethi gram pradhan of vishambhar patti amethi did not have toilet in his home

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य पूरे भारतवर्ष को खुले से शौच मुक्त करना है। इसके अंतर्गत हर प्रदेश, जिले और तहसील में शौचालय बनवाए जा रहे हैं। सरकार की मंशा है कि दो अक्टूबर यानी गांधी जयंती तक पूरे देश को खुले से शौच मुक्त कर दिया जाए। शौचालय के लिए सरकार द्वारा करोड़ों, अरबों रूपये का बजट स्वीकृत किया गया है। वहीं सूबे के वीवीआईपी जनपद अमेठी के एक आदर्श गांव में प्रथम नागरिक कहे जाने वाले ग्राम प्रधान के पास ही शौचालय नहीं है तो ग्रामीणों की बात तो दूर है।

Be the first to suggest a tag

    Comments

    0 comments