महाभारत काल से जुड़ा है पांचालेश्वर महादेव मंदिर का इतिहास

OneIndia_HindiPublished: July 31, 2018Updated: August 2, 2018
Published: July 31, 2018Updated: August 2, 2018

sawan special know the history of panchaleshwar mahadev temple situated in kanpur

कानपुर। वैसे तो पूरे विश्व में भगवान शंकर के कई मंदिर हैं लेकिन कानपुर में बना पांचालेश्वर महादेव मंदिर अपने आप में कुछ खास है। खास हो भी क्यों ना, क्योंकि द्वापर युग में वनवास के दौरान पाण्डवों की पत्नी द्रौपदी (पांचाली) ने इस स्थान पर भगवान भोले नाथ की तपस्या की थी। द्रौपदी की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान भोले नाथ आशीर्वाद देने के बाद इसी स्थान पर शिवलिंग के रूप में विराजमान हो गए। तब से यह मंदिर पांचालेश्वर महादेव के नाम से विख्यात हो गया।

Be the first to suggest a tag

    Comments

    0 comments