काशी में है शिवगुरू बृहस्पति का मंदिर, सावन माह में मिलता है विशेष फल

OneIndia_HindiPublished: August 2, 2018
Published: August 2, 2018

varanasi know all about shivguru brahaspati temple

देव नगरी काशी जहां विराजते है 33 हजार करोड़ देवी देवता और इस सब के साथ देवताओं के गुरू ब्रृहस्पति भगवान। मोक्ष नगरी काशी में इस गुरू ब्रृहस्पति मंदिर की पौराणिक मान्यता है। अनादि काल से इस जीवंत मंदिर में स्वतः देव गुरु विराजते हैं। दरसअल सावन के इस पवित्र महीने में देव गुरू ब्रहस्पति का आज सावन के पहले गुरुवार को हरियाली श्रंगार किया गया है। अति प्राचीन इस मंदिर को लेकर मान्यता है कि जब बाबा भोले ने काशी को अपनी राजधानी बनाईं तो देव लोक से देवता भी मोक्ष नगरी काशी में आकर वास करने के लिए लालायित हो उठे। सभी ने बाबा भोले से विराजमान होने की अनुमति मांग आये और यही के होकर रह गए। लेकिन जब देवताओं के गुरू बृहस्पति ने काशी पहुँच बाबा विश्वनाथ से काशी वास की इच्छा जाहिर की तो शिव ने उन्हें गुरु सम्मान देते अपने परिसर के करीब ऊँचाई वाले टीले पर उन्हें सर्वोच्च स्थान इस लिए दिया कि उनके दर्शन प्रतिदिन खुद विश्वनाथ और यहां आये देवता, ग्रह, नक्षत्र उनका दर्शन कर सके।

Be the first to suggest a tag

    Comments

    0 comments